अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस की कोर कमेटी की बैठक के बाद तृणमूल भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने साफ शब्दों में कहा कि वह पहले ही पेट्रोल-डीजल पर राज्य सरकार द्वारा वसूले जानेवाले टैक्स पर प्रति लीटर एक रुपया कम कर चुकी हैं. ऐसे में राज्य की जो माली हालत है, उसे देखते हुए और कीमत में कटौती करना संभव नहीं है.उन्होंने कहा कि पहले ही सरकार पर इतना कर्ज है कि वह उसका ब्याज चुकाते-चुकाते परेशान है. ऐसे में अब और छूट देना राज्य सरकार के बूते से बाहर है.उल्लेखनीय है कि एक्साइज ड्यूटी और अन्य मदों में कटौती करते हुए केंद्र सरकार ने प्रति लीटर पेट्रोल-डीजल के दाम में ढाई रुपये की कटौती करते हुए राज्य सरकारों से आग्रह किया था कि वे भी इतनी ही कटौती करें, ताकि बढ़ते दामों से परेशान जनता को प्रति लीटर पेट्रोल-डीजल खरीदने में पांच रुपये की छूट मिले.