नई दिल्ली। राजस्थान सिविल सेवा की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए राजस्थान सरकार ने नया फरमान जारी किया है। राजस्थान पब्लिक सर्विस कमिशन ने इस बार 2018 के आरएएस में संशोधन किया है, जिसके बाद सामान्य ज्ञान के तहत भागवत गीता और महात्मा गाँधी के जीवन से जुड़ी शिक्षा का भी अध्ययन करना पड़ेगा। यह बदलाव मैनेजमेंट शिक्षा के तहत किया गया है, जिसमे सभी अभ्यर्थियों को इसे पढ़ना होगा। पाठ्यक्रम में तमाम राष्ट्रीय स्तर की शख्सियतों, समाज सुधारकों और प्रशासनिक अधिकारियों के जीवन के बारे में भी पढ़ना अनिवार्य किया गया है।
Chapter 18 
अध्याय 18 का अध्ययन करना होगा .
आरएएस 2018 के संशोधित पाठ्यक्रम के अनुसार प्रशासन और प्रबंधन में भागवत गीता की भूमिका को सामान्य ज्ञान व सामान्य अध्ययन के पेपर 2 में शामिल किया गया है। इस पेपर में कुल तीन यूनिट हैं। इस यूनिट में प्रबंधन से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे, जोकि गीता के अध्याय 18 से होंगे, जिसमे भगवान श्रीकृष्ण अर्जुन से युद्धक्षेत्र में बात करते हैं। ऐसे में अभ्यर्थियों को इस अध्याय को विस्तार से पढ़ना होगा, जिससे कि इससे जुड़े सवालों का जवाब दे सके।