चंद्रयान-2 के चांद की सतह पर उतरकर इतिहास बनाने में अब कुछ ही घंटे बाकी हैं। वैज्ञानिकों के साथ सभी की नजरें इस ऐतिहासिक पल को देखने के लिए बेताब हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने भी देशवासियों से अपील की है कि वे इस करिश्मे के साक्षी बनें और इस खास पल के फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करें। उन्होंने ट्वीट करके कहा, '130 करोड़ देशवासी इस पल का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।' उन्होंने कहा, 'कुछ ही घंटों में चंद्रयान चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव को छुएगा। भारत और पूरी दुनिया इन वैज्ञानिकों के करिश्मा देखेगी।'बता दें कि लैंडर विक्रम की लैंडिंग के दौरान पीएम मोदी भी इसरो सेंटर में मौजूद रहेंगे। मध्यरात्रि में 1:30 से 2:20 के बीच लैंडर चंद्रमा की सतह को छुएगा और इसके बाद रोवर प्रज्ञान बाहर निकलेगा। पीएम मोदी ने कहा, 'भारत के इस ऐतिहासिक अंतरिक्ष कार्यक्रम को देखने के लिए मैं बहुत उत्साहित हूं और खुशी है कि मैं बेंगलुरु के ISRO सेंटर में मौजूद रहूंगा।' उन्होंने कहा, जिन युवाओं के साथ मैं इस शेष पल का साक्षी बनूंगा उन्होंने ISRO की क्विज जीती है और बेहद प्रतिभाशाली हैं। इस क्विज में बड़ी संख्या में युवाओं का भाग लेना दिखाता है कि युवाओं को विज्ञान और अंतरिक्ष में बेहद रुचि है। यह एक अच्छा संकेत है।