AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। यूपी सरकार द्वारा दंगों के 131 मामलों की वापसी पर ओवैसी ने सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि संविधान और IPC का मजाक उड़ाया जा रहा है। सरकार को ऐसे लोगों के खिलाफ कदम उठाना चाहिए जिनकी वजह से 50 हजार लोग शरणार्थी बन गए। 
उन्होंने कहा कि बीजेपी धर्म से शासन कर रही है, कानून से नहीं कर रही। आपको बता दें कि योगी सरकार ने दंगे के आरोप में दर्ज मुकदमों को वापस लेना शुरू कर दिया है। मुजफ्फरनगर और शामली दंगों से जुड़े 131 केस वापस लिये जा रहे हैं। 
आपको बता दें कि 2013 में मुजफ्फरनगर और शामली में हुए दंगों में 5 सौ से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए थे, इन दंगों में 63 लोगों की मौत हुई थी और 50 हजार लोग विस्थापित हुए थे। 
दंगों में बीजेपी विधायक संगीत सोम और सुरेश राणा भी आरोपी हैं। आपको बता दें कि 131 मामलों में से 13 हत्या और 11 हत्या की कोशिश के हैं। योगी सरकार जिन मामलों को वापस ले रही है उसमे कई जघन्य अपराधों की श्रेणी में आते हैं। 
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक हालही में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और बीजेपी सांसद संजीव बालियान की अगुवाई में तीन खाप प्रतिनिधिमंडल के बीच मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में ही मुकदमों को वापस लेने की प्रक्रिया पर सहमति बनी थी। 
खाप प्रतिनिधिमंडल से बातचीत के बाद सीएम योगी ने विश्वास दिलाया था कि दंगा मामले में वह अधिकारियों से बातचीत करेंगे और आगे की कार्रवाई करेंगे। सीएम ने इस मामले में जिलों के डीएम से रिपोर्ट मांगी थी। जिसके बाद केस वापस लेने की प्रक्रिया शुरू हुई।