प्रियंका ने पीएम मोदी से मुलाकात की। प्रियंका ने पीएम मोदी को कॉन्फ्रेंस का निमंत्रण दिया, जिसमें मां, नवजात और शिशुओं के हेल्थ संबंधित मुद्दे उठाने की बात कही गई है। यह कॉन्फ्रेंस इसी साल के आखिर में दिल्ली में ही आयोजित की जाएगी। इस मुलाकात के दौरान स्वास्थय मंत्री जेपी नड्डा और चिली की पूर्व प्रधानमंत्री मिशेल बेकलेट भी मौजूद थीं। प्रियंका चोपड़ा ने इस मुलाकात की फोटो पीएम मोदी के साथ अपनी सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर की है। इस दौरान प्रियंका सफेद रंग का खूबसूरत सूट पहने नजर आईं। इंस्टाग्राम पर पोस्ट शेयर करते हुए प्रियंका ने लिका कि, 'मैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की आभारी हूं जिन्‍होंने मुझसे, जेपी नड्डा और श्रीमति मिशेल बेशलेट से, इसी साल दिसंबर में दिल्‍ली में होने वाली पार्टनर्स फॉरम से संबंधित विषय पर मुलाकात की। हालारा लक्ष्‍य काफी अहम था- महिलाओं, शिशुओं और नवजातों को गुणवत्ता वाली स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं दी जा सकें, ताकि हम 2030 तक निर्धारित किए गए विकास लक्ष्‍यों तक पहुंचा जा सके।'
दुनिया भर के मसलों पर बात रखने और लोकल मसलों पर चुप रहने के सवाल पर प्र‍ियंका खुलकर बोलीं। उन्‍होंने कहा क‍ि लखनऊ में एक रेप विक्टिम लड़की के पिता की हत्या का मामला सामने आया है। यह घटना मेरे ल‍िए बहुत दुखद है लेकिन मेरे सोशल मीडिया पर एक लाइन लिख देने से क्या होगा? क्या ऐसी घटनाएं रुक जाएंगी? उल्टे मीडिया का ध्यान मामले से हट कर मेरे कमेंट पर आ जाएगा। उन्‍होंने आगे कहा क‍ि मेरा काम करने का तरीका ब‍िलकुल अलग है। मैं लोकल इश्‍यूज पर पॉलिसी मेकर्स से बात करती हूं। मेरे हिसाब से बदलाव इनसे बात करके अपनी बात रखने से आएगा न कि पब्लिक फोरम में अपनी बात रखने से। दिल्ली को महिलाओं के लिए सबसे असुरक्ष‍ित मानने के सवाल पर भी प्र‍ियंका चुप नहीं रहीं। उन्‍होंने कहा क‍ि किसी भी शहर को सेफ बनाने की जिम्मेदारी वहां रहने वाले लोगों की भी है। पुल‍िस अलर्ट रहे, प्रशासन अलर्ट रहे उससे भी ज्‍यादा जरूरी है वहां के लोग अलर्ट रहें। किसी लड़की को जब छेड़ा जाता है, तब कोई कुछ नहीं बोलता। ऐसे में कानून और पुलिस क्या कर लेगी।